बैंक लाइन में लगे बीजेपी नेता मनोज तिवारी को गुस्साई भीड़ ने कर दिया उसका मुंह काला

नोटबंदी होने के बाद से ही पूरी अन्तर्राष्ट्रीय मीडिया ने इस फैसले की जमकर आलोचना की और इस फैसले को देश के लिए बहुत ज्यादा हानिकारक बताया गया था। इंग्लैंड के द गार्डियन अख़बार के अनुसार, नोटबंदी के कारण अमीरों को कोई फर्क नहीं पड़ने वाला है। इससे तो भ्रष्टाचारियों को और मौका मिल जायेगा, क्योंकि नोटबंदी के कारण वह अपना पैसा शेयर मार्केट, गोल्ड और रियल एस्टेट में इन्वेस्ट करने में लगे हुए है। जिस देश की आबादी सवा सौ करोड़ से ज्यादा है और उस देश में सबसे ज्यादा गरीब लोग रहते है इसका सीधा असर गरीबों पर ही पड़ेगा। इस वजह से वह कई घंटों और दिनों तक कतारों में लगे हुए है और इसके लिए वह अपना पैसा और वक़्त दोनों चुका रहे है। इसके अलावा इस योजना के कारण सैंकड़ों लोगों की जाने भी चली गई है। मोदी की ये योजना एक तानाशाही भरा कदम साबित हो रहा है जिसके कारण महंगाई बढ़ रही है और देश में करेंसी ख़त्म हो रही है।

इसके अलावा अमेरिका के द न्यूयार्क टाइम्स के अनुसार, हिंदुस्तान में कैश की स्थिति राजा जैसी बनी हुई है और तकरीबन 80 फीसद के आस-पास ट्रांजेक्शन नकद में ही होते है। इसके अलावा भारत में गाँवों में रहने वाले लोगों के पास अपने खुद के बैंक अकाउंट भी नहीं है। भारत में नकदी का इस्तेमाल करना एक तरीके से मजबूरी है क्योंकि ज्यादातर व्यापार में यहाँ पर दुसरे किसी भी तरीके से पैसा लिया नहीं जाता है। मोदी के इस फैसले के कारण भारत की अर्थव्यवस्था बिगड़ चुकी है। लाखों लोग अपना समय और पैसा खर्च कर रहे है।

अमेरिका के एक और अख़बार ब्लूमर्ग के अनुसार, यह फैसला शुरुआत में तो मास्टर स्ट्रोक लगा, लेकिन बाद में यह बहुत ही भयंकर गलती साबित होती नजर आई। इस फैसले के बाद एक बात तो सभी के सामने आई वह यह कि, इस फैसले के बाद प्लानिंग में बहुत बड़ी लापरवाही देखी गई। कई गांवों में एटीएम और बैंकों की सुविधा नहीं है।

नोटबंदी के फैसले के बाद लंबी-लंबी कतारों में खड़े रहने के बावजूद पचास दिन पूरे होने के बावजूद भी बैंकों और एटीएम से पैसे नहीं मिल पा रहे है। अभी भी देश के हालात ये है कि, देश के ज्यादातर एटीएम में कैश ही उपलब्ध नहीं रहता है। बैंकों में अभी भी बहुत भारी भीड़ रहती है। ऐसे में मोदी सरकार अपने इस योजना को सही साबित करने में नोटबंदी के फायदे गिनाते हुए नजर आ ही जाती है। ऐसा ही एक नजारा देखने को मिला दिल्ली के यमुना विहार इलाके में जहाँ पर भाजपा के सांसद मनोज तिवारी कतारों में लगे लोगों का जब हालचाल जानने के लिए पहुंचे तो वहां पर मौजूद भीड़ और एक महिला ने उसके सामने ही मोदी विरोधी नारे लगाने शुरू कर दिए। इसके बाद एक विडियो अभी हाल ही में मनोज तिवारी का सामने आया जब उन्होंने देशभक्ति के नाम पर लोगों का खूब मजाक बनाया अपने मंत्रियों के बीच में जाकर।

Leave your reply