नफरत की राजनीति करने वाले आरएसएस और मोदी सरकार की पोल खोल दी भगवंत मान ने

भगवंत मान ने मोदी सरकार को जमकर लताड़ा है उन्होंने मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए सदन में कई गंभीर मुद्दे सरकार के सामने रखे हैं। भगवंत मान ने बताया कि, कुछ बातें है जो इसके जरिये से मैं जनता के सामने लाना चाहता हूँ। भगवंत मान ने मोदी सरकार की हकीक़त बताते हुए कहा कि, “मोदी ने वोट मांगे डिजिटल इंडिया के नाम पर, वोट मांगे गए बुलेट ट्रेन के नाम पर लेकिन चर्चा किस बात पर हो रही है? लेकिन सरकार किस पर चर्चा करने पर तुली हुई है? आप ये खा नहीं सकते, आप ये गा नहीं सकते, आप ये पहन नहीं सकते। भगवंत मान ने बताया कि, ये गाय, भैंस बकरी किस नाम पर बीच में आ गई है?”

भगवंत मान ने ये तो साफ़ कर दिया है कि, मोदी सरकार गंभीर मुद्दों को छोड़कर ऐसी बातें लागू कर रही है जो एक लोकतांत्रिक देश में किसी अभिव्यक्ति की आजादी छिनी जा रही है। अभी हाल ही में सभी सिनेमाघरों में हर फिल्म की शुरुआत से पहले राष्ट्रगान शुरू कर दिया गया है इसपर भी बहुत आलोचना हुई है। चेतन भगत जो हर बार मोदी सरकार की तरफदारी करते हुए नजर आते है इस बार उन्होंने भी मोदी सरकार के इस फैसले की आलोचना करते हुए ट्वीट कर दिया कि, संबंध बनाने से पहले भी राष्ट्रगान क्यों लागू नहीं कर दिया जाये? इसके अलावा ट्विंकल खन्ना ने भी इस फैसले का विरोध किया।

भगवंत मान ने इसके अलावा संसद में मोदी सरकार की चमड़ी उधेड़ते हुए आगे और संसद में महत्वपूर्ण बातें रखी जिन्हें मोदी सरकार को गौर करने की आवश्यकता है। उन्होंने बताया कि, मोदी सरकार नफरत की राजनीति कर रही है लेकिन यहाँ पर नफरत की राजनीति कैसे आ गई? भगवंत मान ने मोदी सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि, एक लाख 14 हजार करोड़ रूपये बड़े-बड़े उद्योगपतियों का माफ़ कर दिया, लेकिन किसानो के लिए कुछ नहीं किया है इस सरकार ने। किसान कर्ज होने के कारण आत्महत्या करने पर मजबूर हो रहे है अगर ध्यान से देखा जाये तो उनपर कर्ज भी ज्यादा नहीं है इन उद्योगपतियों के मुकाबले में। ऐसे भी किसान है जो सिर्फ 80 हजार रूपये कर्ज के कारण आत्महत्या के मामले सामने आ रहे है। कई किसान अपनी बेटियों की शादियाँ करने के लिए अपनी किडनी तक बेच रहे है। कल तक जो किसान पुरे देश को खाना खिला रहे थे, लेकिन आज वह खुद भूखें पड़े है।

नरेंद्र मोदी जी चुनाव से पहले कांग्रेस सरकार की आलोचना करने वाले कहा करते थे कि, “जब हमें मौका मिलेगा तो हमारे जवान के एक सिर के बदले 10-15 सिर लेकर आयेंगे, लेकिन हो क्या रहा है? मोदी जी पाकिस्तान में जाके नवाज शरीफ के यहाँ पर चाय पी रहे है।” इसके अलावा मोदी जी आरएसएस के प्रोग्राम में जाते है और वहां पर भाषण देते है कि, ये बहुत ही सच्चे संघ सेवक है। लेकिन ये वही आरएसएस है जहाँ के मुख्यालय में पिछले 52 सालों से तिरंगा झंडा नहीं फहराया गया।

loading...

Leave your reply