कपिल सिब्बल ने खोला बीजेपी के इतिहास का काला सच: देखें विडियो

नोटबंदी से हुई नाकामी को देखते हुए प्रधानमंत्री संसद से भागते फिर रहे है वहीं इस पर विपक्ष प्रधानमंत्री के इस रवैये को लेकर कड़ी आलोचना भी कर रही है। इस पर मोदी जी ने अपना यह तर्क देते हुए दिखाई दे रहे है कि, उन्हें संसद में बोलने नहीं दिया जाता है इसलिए वह यहाँ रैलियों में आकर बोलते है। नोटबंदी और बीजेपी के काले इतिहास को कांग्रेस के दिग्गज नेता कपिल सिब्बल ने बहुत ही शानदार तरीके से उजागर किया है। उन्होंने बताया कि, “बड़े दुःख की बात है की प्रधानमंत्री इस सत्र में बोले ही नहीं। लेकिन पहली बार ऐसा हुआ है कि, सत्ता पक्ष के लोग जब उनकी बहुमत तीन सौ से ज्यादा है तो सत्ता पक्ष में आकर वेल में आकर नारे लगाकर सदन को चलना नहीं देना चाहते थे ऐसा पहले कभी नहीं हुआ।”

कपिल सिब्बल ने बताया कि, प्रधानमंत्री शायद इस खौफ में थे कि, जब वह बोलेंगे तो उनका खुलासा देश के सामने आ जायेगा, तब कि जब सदन चल रहा हो। मोदी जी ने सत्र के बाद ऐसी बातें देश के सामने रखी और यह बताना चाहा कि, भाजपा ही एक ऐसी पार्टी है जो देशप्रेमी पार्टी है और बाकि पार्टियाँ तो देशद्रोही है इस तरीके से उन्होंने बातें रखी। मोदी जी का कहना है कि, बीजेपी ही एक ऐसी पार्टी है जो देश को आगे और अपनी पार्टी को पीछे रखती है। इस पर कपिल सिब्बल ने जवाब देते हुए कहा कि, परेशानी इस बात की है कि, मोदी जो को इतिहास मालूम नहीं है।

जब इतिहास की बात आती है तो 1947 के समय और उससे पहले जब हम देश के लिए स्वतंत्रता की लड़ाई लड़ रहे थे। कपिल सिब्बल ने बताया कि, इनके लोग उस समय अंग्रजो के पक्ष में थे उस समय इनके लोग कांग्रेस पार्टी के स्वतंत्रता के आन्दोलन के खिलाफ हो रखे थे। इस बात से साबित होता है कि, तब भी इनके लिए देश बाद में ही था और दल को यह सबसे पहले रखते थे। लेकिन आज की परिस्थिति तो उससे भी ज्यादा हो चुकी है क्योंकि मोदी जी न अपने दल को देखते है और न ही देश को देखते है।

कपिल सिब्बल ने बताया कि, नोटबंदी की वजह से लाखों और करोड़ों लोग जिनकी मेहनत की कमाई, जो उनके पास है और जो उनके घरों में रखी हुई है और जिन लोगों का काले धन से कोई लेना देना भी नहीं है आज मोदी और उसकी सरकार ने उन लोगों को बेरोजगार और बेघर करके छोड़ा है। हमारे देश के गाँवों की यह हालत है कि, कई गांवों में कोई बैंक नहीं है और बैंक गाँव से बहुत दूर 15 किलोमीटर से भी ज्यादा दूर पड़ते है। इसके अलावा इतने दिन बीत जाने के बावजूद भी बैंकों और एटीएम में पैसे नहीं है चारो ओर त्राही-त्राही मची हुई है।

इसको आप ऐसे भी समझ सकते है कि, अगर आपके पास सौ रूपये पड़े है और उसमें से 86 रूपये को फ्रीज़ कर दिया जाए तो सोचिये किस तरीके से आप घर खर्च चलाएंगे? इस वजह से चारो ओर रोजगार ठप्प हो गए है और मोदी जी ऐसे में पेटीएम इस्तेमाल करने के लिए बोल रहे है और आपको बता दे कि, पेटीएम का दो से ढाई फीसद पेटीएम को मिलता है और इस बात को मोदी जी अच्छी तरह से जानते है और पेटीएम में चाइना की आधे से ज्यादा हिस्सेदारी है और मोदी जी एक चाइना की कंपनी का फायदा कर रहे है। गरीब आदमी की कमाई मोदी जी पेटीएम को दे रहे है।

Leave your reply