साध्वी को बचाने के चक्कर में मोदी ने कर दिया दलितों का अपमान, कुमार विश्वास ने खोली पोल

भारतीय जनता पार्टी के साधू-साध्वी अजीबोगरीब भाषण देते रहते है इसलिए वह चर्चा में भी बने रहते है। भाजपा के इन साधू-साध्वियों के भड़काऊ भाषण आपने अक्सर सुने ही होंगे, जो देश का माहौल खराब करने के लिए काफी है। साक्षी महाराज से लेकर साध्वी प्राची तक ये भाजपा के संत लोग, हालाँकि इनको संत कहा जाता है लेकिन बातें तो ऐसी करते है कि, देश का माहौल बिगाड़ने के लिए कोई कसर बाकी नहीं छोड़ते है। देश में धर्म के नाम पर राजनीति करने वालों पर तो अब सुप्रीमकोर्ट ने भी फटकार लगा दी है। यह फैसला आने के बाद भारतीय जनता पार्टी के राजनाथ सिंह ने यह बयान दिया कि, भाजपा ने कभी भी धर्म के नाम पर राजनीति नहीं की। उनके इस बयान के बाद सोशल मीडिया में उनका खूब मजाक भी बनाया गया।

लोगों ने सोशल मीडिया में रिएक्शन देना शुरू कर दिया कि, लालकृष्ण आडवाणीजी ने जो राम मंदिर के लिए जो रथ निकाला था वह क्या मंगल यात्रा के लिए निकले थे? इस तरीके के कई कमेंट्स भी सोशल मीडिया में देखने को मिले। डॉक्टर कुमार विश्वास एक कवि होने के नाते कई बार वह भाजपा को अपनी कविता के जरिये से ढेर कर जाते है। इस बार उन्होंने भाजपा के साधू-साध्वियों की पोल खोलकर रख दी है अपने बेबाक अंदाज़ के जरिये से।

कुमार विश्वास ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मिमिक्री से शुरुआत करते हुए कहा कि, भाइयों-बहनों अगर केंद्र में भाजपा की सरकार आ जाये तो घर-घर में विकास पैदा होगा। इसके बाद भाजपा की सरकार भी आ गई और साक्षी महाराज कह रहे है कि, चार बच्चे पैदा करों। इस पर कुमार विश्वास ने इस बात पर चुटकी लेते हुए पूछ लिया कि, विकास कहाँ है? वो बोले की इन्ही में से कोई होगा। इसके बाद साध्वी प्राची ने कहा कि, पांच पैदा करो। कुमार विश्वास ने कहा कि, अगर शुरू में ही विकास हो गया तो बाकि के पैदा करने की नहीं करने? कुमार विश्वास ने इन साधू-साध्वियों की बातों का मजाक बनाकर पूरी महफ़िल ठहाकों से गूँज उठी।

इसके बाद कुमार विश्वास ने यह भी बताया कि, भारतीय जनता पार्टी ने जब पहली रैली दिल्ली में की तो देश की एक मंत्री साध्वी निरंजन ज्योति ने कहा कि, “दिल्ली में जो भाजपा को वोट देते है वो राम जाने और जो नहीं देते है वो हराम जाने।” भाजपा की इस साध्वी का बात कुमार विश्वास ने देते हुए कहा कि, ये तो अहंकार है और ये ठीक बात नहीं है। इस पर कुमार विश्वास ने साध्वी जी को चैलेंज देते हुए कहा कि, जितनी गीता और उपनिषद आपको याद हो और उससे एक भी श्लोक मुझे कम याद हो तो उन्होंने चुनौती देते हुए कहा कि, वह राजनीति छोड़ने के लिए तैयार है। देश के 31 फीसद लोगों ने आपको वोट दिया और 69 फीसद ने आपको वोट नहीं दिया तो इसका मतलब बाकि बचे देशवासी वो हरामजादे हो गए।

loading...

Leave your reply