रवीश कुमार ने खोली पोल, झूठें पत्रकारों को इस तरह खरीद लेती है राजनीतिक पार्टियाँ

मीडिया में इतनी ताकत होती है कि, वह झूठ को सच बनाकर और सच को झूठ बनाकर लोगों के सामने पेश कर सकती है। आजकल मीडिया का बहुत गलत फायदा भी उठाया जा रहा है। पहले मीडिया का काम होता था कि, लोगों के सामने जैसी खबरें होती थी वैसे ही लोगों के सामने पेश करना। लेकिन अब सब कुछ बदल गया है मीडिया को राजनीति से जोड़कर देखा जाता है। बहुत ही कम मीडिया पत्रकार बचे है जिनका जमीर आज भी जिन्दा है और वह सच बात दिखाने की हिम्मत रखते है।

कई राजनीतिक पार्टियाँ मीडिया को मोटी रकम देकर खरीद लेती है। और कई बार मीडिया किसी घोटाले को भी छिपाने के लिए सच खबर को झूठ बनाकर पेश करती है। अभी कुछ समय पहले जी न्यूज़ के पत्रकार सुधीर चौधरी 100 करोड़ की रिश्वत के जुर्म में पकड़े गए थे, इसमें उनके साथ साथी पत्रकार समीर अहलुवालिया भी शामिल थे। जिन्हें जेल की हवा खानी पड़ी थी।

मीडिया अपनी ताकत का गलत फायदा उठाते हुए अपने आप को बेच देती है और किसी राजनीतिक पार्टी को जिताने के लिए अपना पूरा दम खम लगा देती है। जैसा की राजदीप सरदेसाई जी ने बताया था कि, आप कभी भी किसी राजनेता के प्रशंसक मत बनिए। क्योंकि फिर आप उनमें जो बुराई है उसकी आलोचना आप नहीं कर सकेंगे। जैसा की सभी जानते है कि, जी न्यूज़ कभी भी भारतीय जनता पार्टी के खिलाफ खबर नहीं चलाता है। जब भी देखों सिर्फ मोदी-मोदी ही न्यूज़ जी न्यूज़ पर दिखाई देती है।

सबसे अहम बात तो यह भी हो चुकी है कि, आजकल मीडिया में बैठे ये पत्रकार लोग भी देशवासियों को देशभक्ति के सर्टिफिकेट देते है। देश में जो गंभीर मुद्दे चल रहे है उन मुद्दों से हटकर सिर्फ फालतू मुद्दों को चुनते है जैसा की एक इंटरव्यू में रवीश कुमार ने हमें बताया था। इस विडियो में भी आप देख सकते है कि, रवीश कुमार के साथ दो वरिष्ठ पत्रकार भी बैठे हैं जो अपनी आप बीती बता रहे है कि, किस तरह आज से बहुत पहले भी पत्रकारों को राजनीतिक पार्टियों ने खुलेआम खरीदना शुरू कर दिया था। इस पर रवीश कुमार ने भी बताया कि, अब तो भाव और भी ऊँचे हो गए है। अब तो राजनीतिक पार्टियाँ अपनी खबरें चलाने के लिए बड़े-बड़े इनाम देती है। रवीश कुमार का सीधा इशारा सुधीर चौधरी और अर्नब गोस्वामी जैसे पत्रकारों पर हो सकता है जिन्हें सरकार वाई और जेड श्रेणी जैसी सुरक्षा सुविधा दे रखी हैं।

loading...

Leave your reply