मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराजसिंह ने उठवाए अपने सिक्यूरिटी गार्ड से जूते

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान अक्सर चर्चा का विषय बने रहते है। अभी कुछ समय पहले उनके राज में व्यापम भर्ती घोटाला हुआ था, जो अब तक का मध्य प्रदेश का सबसे बड़ा घोटाला माना गया। इस घोटाले के अन्दर चालीस से ज्यादा मौते हो चुकी है। इसके अलावा इस घोटाले में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का भी नाम आया। इस घोटाले के तहत साठगाँठ करके मेडिकल और इंजीनियरिंग कॉलेजों में फर्जीवाड़ा के जरिये से दाखिला करवाया गया था। इसके बाद इस घोटाले के तहत भ्रष्टाचार के जरिये से सरकारी नौकरियां दी गई थी।

अभी इन दिनों सोशल मीडिया में मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान का एक विडियो वायरल हो रहा है जिसमें उनकी तुच्छ हरकत सामने आई है। इस विडियो में आप देख सकते है कि, मुख्यमंत्री जी बिना जूते मोज़े पहने हुए चल रहे है लेकिन पीछे-पीछे उनके सुरक्षा गार्ड उनके जूते लेकर पीछे-पीछे चल रहे है। दरअसल उज्जैन के एक जैन संत के प्रोगरा में शिवराज सिंह आशीर्वाद लेने के लिए गए हुए थे। इस दौरान उनकी यह हरकत सामने आई है।

इससे पहले भी शिवराज सिंह अपनी इन्ही वजहों के कारण चर्चा में रह चुके है। इससे पहले जब वह पन्ना जिले में बाढ़ पीड़ित क्षेत्र का जायजा लेने पहुंचे थे तब भी पानी इकट्ठा होने के कारण सुरक्षा कर्मियों ने मुख्यमंत्री जी को अपनी गोद में उठा लिया था और उनके जूते और मोज़े गीले नहीं हो जाये इसलिए उनके जूतों और मोजो को सुरक्षा कर्मियों ने अपने हाथों में उठा लिया था। इस बार भी मुख्यमंत्री जी जब जैन मुनि प्रज्ञा सागर से मुलाकात करने पहुंचे थे।

लेकिन इस दौरान भी उनके जूते उनका सुरक्षा कर्मी उठाता हुआ दिखाई दिया। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान उज्जेन की तपोभूमि पर जब बीजेपी के प्रशेक्षण में भाग लेने पहुंचे थे। लेकिन वहां जाने से पहले उन्होंने जैन मुनि प्रज्ञा सागर का आशीर्वाद लेने पहुँच गए। उनकी चौखट पर जाने से पहले मुख्यमंत्री जी ने अपने जूते उतार दिए और इसके बाद जैन मुनि से आशीर्वाद लिया और फिर बिना जूते के ही चल पड़े। जूते ऐसे ही न रह जाये इसलिए उनकी सुरक्षा में तैनात सुरक्षाकर्मी ने उनके जूते अपने हाथों में उठाकर चल दिए।

Leave your reply