नवजोत सिंह सिधु ने अपने अंदाज में खोली भाजपा की गंदी राजनीति की पोल

क्रिकेटर से राजनीति में कदम रखने वाले नवजोत सिंह सिद्धू ने अभी कुछ समय पहले पिछले साल 2016 में सितंबर के महीने में सिद्धू ने भारतीय जनता पार्टी से इस्तीफा दे दिया था। इससे पहले जुलाई में ही उन्होंने राज्यसभा के पद से भी इस्तीफा दे चुके थे। इनके साथ ही नवजोत सिंह सिद्धू की पत्नी कौर सिद्धू ने भी विधानसभा के पद से इस्तीफा दे दिया था। इसके बाद यह बात साफ़ हो चुकी थी कि, अब भाजपा और नवजोत सिंह सिद्धू के रास्ते अलग हो चुके है। नवजोत सिंह सिद्धू ने साफ़ तौर से कहा कि, उन्होंने पंजाब के हित के लिए ही इस पार्टी का त्याग किया है।

Modi and Shah (BJP)

इसके साथ ही उन्होंने बीजेपी की गन्दी राजनीति की पोल भी सबके सामने खुलकर खोल दी। नवजोत सिंह सिद्धू ने मीडिया से इंटरव्यू के दौरान बताया कि, नवजोत सिंह सिद्धू ने बताया कि, मैंने राज्यसभा से इस्तीफा इसलिए दे दिया क्योंकि मुझे यह कहा गया था कि, पंजाब की तरफ मुंह नहीं करोगे और पंजाब से तुम्हे दूर ही रहना है। नवजोत सिंह सिद्धू ने बताया कि, पंजाब ने उनको चार बार चुनाव जिताए है और उसके बाद यह कहा जाता है कि, पंजाब से दूर रहो। लेकिन उन्होंने सवाल खड़ा करते हुए कहा कि, किस गुनाह के कारण वह पंजाब से दूरी बना ले।

Navjot Singh Sidhu.

नवजोत सिंह सिद्धू ने बीजेपी पर तंज कसते हुए कहा कि, दुनिया की कोई पार्टी पंजाब से बड़ी नहीं हो सकती है और इसके लिए सिद्धू कोई भी तकलीफ झेलने के लिए तैयार है। नवजोत सिंह सिद्धू ने बताया कि, जब पंजाब में बीजेपी की कोई हस्ती नहीं थी तब उन्होंने इस हालात में बीजेपी को उन्होंने बहुत भारी मतों से जीत दिलाई। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि, जब आंधियां चलती थी तब उन्होंने सिद्धू को पुकारा।

अब वह उन्हें पंजाब छोड़ने के लिए कहा जा रहा है कि, वह कुरुक्षेत्र से चुनाव लड़े। नवजोत सिंह सिद्धू ने बताया कि, जब मोदी साहब की लहर आई तो विरोधी तो डूबे इसके साथ सिद्धू को भी डुबो दिया गया। नवजोत सिंह सिद्धू ने बताया कि, जिस पंजाब ने उन्हें इतना मान-सम्मान दिया चार बार इलेक्शन जिताए अब वह उन्हें पंजाब छोड़ने के लिए कह रही है। इसके साथ उन्होंने बताया कि, अगर किसी में भी उन्हें चुनना पड़े तो वह सबसे पहले पंजाब को चुनेंगे।

Leave your reply