जी न्यूज़ के मालिक सुभाष चंद्रा ने सरेआम की खुलकर गुंडागर्दी: देखें विडियो

अभी कुछ समय पहले कोल ब्लॉक आवंटन घोटाले से जुडी खबर न दिखाने के लिए कांग्रेस सांसद नवीन जिंदल से जी न्यूज़ के संपादक सुधीर चौधरी और समीर अहलुवालिया ने सौ करोड़ रूपये की घूस मांगने का मामला सामने आया था। इसके लिए जी समूह के चेयरमैन सुभाष चंद्रा को भी शक के आधार पर उनको घेरा गया था। लेकिन सुधीर चौधरी और समीर अहलुवालिया इसमें दोषी पाए गए थे जिसके कारण इन दोनों को तिहाड़ जेल भी जाना पड़ा था।

जी समूह के मालिक सुभाष चंद्रा की खुली गुंडागर्दी सामने आई है दरअसल यह मामला हरियाणा में वोटिंग के वक़्त इन्होने खुलकर गुंडागर्दी की। सुभाष चंद्रा हिसार के वोटिंग के एक बूथ पर पहुंचकर सरेआम उसने गुंडागर्दी शुरू कर दी, इस गुंडागर्दी में उसके गुर्गे भी शामिल हुए जिन्होंने जमकर वोटिंग बूथ में उत्पाद मचाया।

सुभाष चंद्रा सबसे पहले हरियाणा के हिसार में हो रही वोटिंग के बूथ नंबर 102 और 103 पर पहुंचा, लेकिन उन्हें एक पुलिस वाले ने भी रोकने की भी कोशिश की। लेकिन वह लोगों को धमकाने लगा और पुलिस वाले को धमकी देते हुए कहने लगा, “मैं कपड़े फाड़ दूंगा यहाँ।” फिर इसके बाद वोटिंग के बूथ के अन्दर घुस गया और वहां पर लोगों में अफरा तफरी का माहौल पैदा कर दिया। फर्जी वोटिंग के बहाने अपनी हद से आगे बढ़ते हुए सुभाष चंद्रा आम लोगों से वोटर आईडी कार्ड मांगने लगा। इससे लोगों में डर फ़ैल गया और इनके धमकाने के कारण लोग अपना आईडी कार्ड भी सुभाष और इसके गुर्गों को दिखाने भी लगे।

सुभाष चंद्रा ने पता नहीं किस हैसियत और किस पद के बिना पर आम आदमी के वोटर आईडी कार्ड चेक किये। फर्जी वोटर के बहाने जब लोगों के आईडी कार्ड चेक किये तो उसे कुछ मिला भी नहीं। जब कुछ नहीं मिला तो इनके चेहरे की रंगत उड़ गई और जब फोकस मीडिया ने इस बारें में यह सवाल किया कि, आप किस हैसियत के साथ ये जाँच करने पर तुले हुए हो? जी समूह के मालिक सुभाष चन्द्र और उसके गुर्गों की गुंडागर्दी कैमरे में कैद हो चुकी थी, इसलिए इसको देखकर इनके चेहरे की रंगत ही उड़ चुकी थी। जब कुछ नहीं मिला तो दुम दबाकर जी समूह का मालिक लड़खड़ाते हुए क़दमों के साथ भाग निकला।

loading...

Leave your reply