Home BJP अकाली दल और कांग्रेस ने इन लोगो को नागरिकता देने की करी मांग

अकाली दल और कांग्रेस ने इन लोगो को नागरिकता देने की करी मांग

0
अकाली दल और कांग्रेस ने इन लोगो को नागरिकता देने की करी मांग

भारतीय राजनीतिक दलों के बीच नागरिकता संशोधन कानू!न (सीएए) को लेकर छि!ड़ी ब!हस के बीच अकाली और कांग्रेस ने पाकि!स्तान के अहमदिया मुस्लि!मों को नागरिकता देने की मांग की है।

अकाली दल के प्रवक्ता और महासचिव डॉक्टर दलजीत सिंह चीमा के मुताबिक उनकी पार्टी ने नागरिकता संशोधन कानू!न पास करने के लिए केंद्र सरकार की सराहना तो की है। साथ ही ये भी मांग की है कि धार्मि!क प्रता!ड़ना का शिकार हुए अहमदिया मुस!लमानों को भी इस कानू!न का हिस्सा बनाया जाए।

इसके अलावा कांग्रेस के सांसद प्रताप सिंह बाजवा और अहमदिया समुदाय के हेडक्वार्टर कहे जाने वाले कादि!यां क्षेत्र के विधायक फतेहजंग बाजवा ने केंद्र सरकार को बाकायदा पत्र लिखकर पाकिस्तान छो!ड़कर भारत में शरण लेने वाले अहमदिया समुदाय को नागरिकता देने की अपील की है।

पाकिस्तान अहमदिया मु!सलमानों को मुसलमान नहीं मानता है। पाकिस्तान ने 7 सितंबर 1974 को अपने संविधान में दूसरा संशोधन करके अहमदिया संप्र!दाय के लोगों को गै!र मु!स्लिम करा!र दे दिया। इसके अलावा 1984 में  तत्का!लीन पा!किस्तान सरकार ने बका!यदा एक अध्यादेश जारी करके अहमदिया मु!सलमानों पर कुरान शरीफ पढ़ने और  उनके मस्जिदों में प्रवेश करने पर पा!बंदी ल!गा दी थी।

बता दें कि नागरिकता संशोधन कानू!न में पाकिस्तान, अफगानिस्तान और बांग्लादेश में धा!र्मिक उत्पी!ड़न के कारण वहां से विस्थापित हिं!दू, सिख, जैन, बौद्ध, पारसी, ईसाई धर्म के लोगों को भारत की नागरिकता देने का प्रावधान किया गया। अब पा!किस्तान, अफगानिस्तान और बांग्लादेश के उक्त धर्मों के लोग जिन्होंने 31 दिसंबर 2014 की निर्णायक तारीख तक भारत में प्रवेश कर लिया है वे सभी भारत की नागरिकता के लिए पात्र होंगे।

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह पहले ही साफ कर चुके हैं कि केंद्र की बीजेपी सरकार की ओर से नागरिकता कानू!न में किया गया संशोधन संविधान की गरिमा का मजा!क उ!ड़ा रहा है.  कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा, ‘मेरी सरकार नागरिकता संशोधन कानू!न का विरो!ध करेगी क्योंकि यह भारतीय जनता पार्टी के समाज को बां!टने वाले एजें!डे से प्रेरित है.’

Leave your reply