अमित शाह ने फंसाया मोदी को बुरी तरीके से, जिसे देखकर जनता मोदी को माफ़ नहीं करेगी

नोटबंदी के बाद एक आम आदमी और गरीब, मजदूर का दर्द हर कोई नहीं समझ सकता है। क्योंकि जिस प्रधानमंत्री ने नोटबंदी का ऐलान करने के बाद आराम से जापान निकल जाता है और वहां पर आराम से जापान की सैर कर रहा होता है और जापानी तंदूरा बजाकर अपनी देश की जनता को इस हाल में छोड़कर चला जाता है। इस तरह तो किसी देश के राजा को नहीं होना चाहिए। नोटबंदी से सभी जानते है कि, देश का क्या हाल हो गया है सभी अपने काम धंधे छोड़कर इसी में लगे हुए है सिर्फ बैंकों के आगे कतारें बनाकर खड़े हुए है।

राजनीती में आने से पहले नरेंद्र मोदी जी बहुत बड़े-बड़े वादे करते थे और देश को झूठे वादों और जुमलों पर राजी करके यह भरोसा दिलाते थे कि, विदेशों में जो काला धन छिपा हुआ है उसकी पाई-पाई देश में लाई जाएगी और उस काले धन को देश के विकास के लिए लगाया जायेगा। इसके अलावा प्रधानमंत्री अपने भाषणों में विदेशों से काले धन लाने के बाद यह भी विश्वास दिलाते थे कि, भारतीयों का जितना काला धन विदेशों की बैंकों में छिपा हुआ है। अगर वह भारत आ जाये तो हर किसी के बैंक के खाते में 15-20 लाख रूपये यूँही आ जायेंगे।

amit-shah-exposed-narendra-modi-after-watch-public-will-not-forgive-01
Modi and Shah.

लेकिन हुआ क्या? देश को चुनावी जुमलो और झूठे वादों का दिलासा दिलाकर उनकी ही मेहनत का कमाया हुआ धन को काला धन बनाकर सभी देशवासियों को भिखारियों की तरह लाइन में लाकर खड़ा कर दिया। इससे नाराज होकर हिन्दू महासभा ने भी मोदी सरकार के खिलाफ जंग छेड़ दी है। हालाँकि, पहले वह भी बीजेपी के पक्ष में थी लेकिन अब नोटबंदी के फैसले के बाद हिन्दू महासभा नोटबंदी का जमकर विरोध कर रही है। हिन्दू महासभा की राष्ट्रीय सचिव डॉ. पूजा शकुन ने मोदी को घमंडी करार दिया और मोदी को लान-तान करते हुए यह भी कहा कि, “शेम ओन यू मोदी”।

Modi.

मोदी के इस फैसले से कोई खुश नजर नहीं आ रहा है और ऐसा भी माना जा रहा है कि, मोदी जी ने यह फैसला लेकर अपने ही पैरों पर कुल्हाड़ी मार ली है। और इसका परिणाम वह आने वाले चुनाव में जरुर भुगतेंगे। इस विडियो में आप देख सकते है कि, मोदी लोकसभा चुनाव से पहले देश की जनता से बड़े-बड़े वादे कर रहे है और देशवासियों के खाते में 15-20 लाख रूपये आने का भरोसा भी दिलाया।

लेकिन अमित शाह ने अपने ही नेता नरेंद्र मोदी की पोल सबके सामने खोलकर रख दी और कहा 15 लाख रूपये एक चुनावी जुमला था। क्योंकि 15-20 लाख रूपये किसी के खाते में ऐसे ही थोड़ी आ जाते है। अमित शाह ने पीएम मोदी को फंसा दिया और यह बात उन्होंने मीडिया के सामने आकर सबके सामने रखी है ताकि, देश की भोली-भाली जनता आगे से ऐसी बातें नहीं करें।

Leave your reply