Home AAP आप नेता आशुतोष ने सहवाग को दी ऐसी नसीहत, भड़क उठे भक्तगण

आप नेता आशुतोष ने सहवाग को दी ऐसी नसीहत, भड़क उठे भक्तगण

0
आप नेता आशुतोष ने सहवाग को दी ऐसी नसीहत, भड़क उठे भक्तगण

आम आदमी पार्टी के नेता आशुतोष ने पूर्व क्रिकेटर वीरेंद्र सहवाग को एक नसीहत दी है। आशुतोष ने यह नसीहत सहवाग के कुछ ट्वीट को लेकर दी है। आशुतोष ने वीरेंद्र सहवाग पर निशाना साधते हुए कहा है कि उन जैसे लोगों को श्रीलंका के खिलाड़ियों से सिखना चाहिए, जो कट्टरता और साम्प्रदायवाद को बढ़ावा देने के बजाय उसकी निंदा करते हैं।

Ashutosh’s Tweet

दरअसल आशुतोष ने श्रीलंका के कुछ क्रिकेटर्स के ट्वीट को शेयर किया है। श्रीलंका के क्रिकेटरों का यह ट्वीट इस देश में चल रहे ताजा साम्प्रदायिक दंगों को लेकर है। श्रीलंका के क्रिकेटर जयसूर्या, महेला जयवर्धने और कुमार संगकारा ने ट्वीट कर इस हिंसा की निंदा की है।

आशुतोष ने लिखा, “वीरेन्द्र सहवाग जैसे लोगों को श्रीलंका के खिलाड़ियों से सिखना चाहिए। कट्टरता और साम्प्रदायवाद को समर्थन देने के बजाय ये लोग इसकी निंदा करते हैं।” बता दें कि कुछ दिन पहले केरल में एक शख्स की पीट-पीटकर हत्या कर दिये जाने पर सहवाग ने एक ट्वीट किया था।

भक्तों के जवाब-01

इस ट्वीट को लेकर वह काफी विवादों में आ गये थे। सहवाग ने इस ट्वीट में लिखा था, “मधु ने एक किलो चावल चुराया, उबैद, हुसैन और अब्दुल की भीड़ ने बेचारे आदिवासी को पीट-पीटकर मार डाला, यह सभ्य समाज के लिए कलंक है, दुख की बात है कि किसी को फर्क नहीं पड़ता है।”

इस ट्वीट में उबैद, हुसैन और अब्दुल का नाम लिखने पर सहवाग की आलोचना हुई थी। कई लोगों ने कहा था कि वह एक अपराध को गलत एंगल दे रहे हैं। इसके बाद सहवाग को यह ट्वीट डिलीट करना पड़ा था।

भक्तों के जवाब-02

हालांकि आशुतोष ने जब वीरेंद्र सहवाग को जब ये सलाह दी, तो कई लोगों ने इसे पसंद नहीं किया। ट्विटर पर कई लोगों ने आशुतोष को ही खरी-खोटी सुनाई। वैभव जैन ने लिखा, “सहवाग को ज्ञान देते वाले आप कौन होते हैं, आप राजनीति पर ध्यान दीजिए ना।”

भक्तों के जवाब-03

एक यूजर ने लिखा, “सर आपको सहवाग का ट्विटर हैंडल नहीं पता, यह डर लग रहा है, लो मैं यह ट्वीट उनको भेज देता हूं।” एक यूजर ने लिखा, “क्या आपके हिसाब से सहवाग को आम आदमी पार्टी ज्वाइन कर लेनी चाहिए।”

भक्तों के जवाब-04

एक यूजर ने लिखा कि कुछ लोग सहवाग से अपनी तुलना कर रहे हैं, इन्हें पता भी है सहवाग ने देश के लिए क्या किया है।” मिथिलेश कुमार ने लिखा, “क्या अभिव्यक्ति की आजादी सिर्फ आपके लिए ही है, क्या वो आपसे पूछकर बोलें।”

Leave your reply