आज़म खान और उनके बेटे को सुप्रीम कोर्ट ने दिया बड़ा झ!टका

समाजवादी पार्टी के सांसद आजम खान (Azam Khan) के बेटे अब्दुल्ला आजम खान (Abdullah Azam Khan) को सुप्रीम कोर्ट से फिलहा!ल कोई राहत नहीं मिली है। कोर्ट ने निर्वाचन रद्द करने के हाईकोर्ट के फैसले पर रो!क लगाने से इं!कार किया है। हाईकोर्ट के याचिकाकर्ता को नोटिस जारी कर जवाब मांगा गया है। अब्दुल्ला आजम खान ने विधायकी र!द्द किए जाने के संबंध में इलाहाबाद हाईकोर्ट के फैसले को सुप्रीम कोर्ट में चु!नौती दी है।

हाईकोर्ट ने यह कहते हुए अब्दुल्ला आजम खान की विधायकी र!द्द कर कर दी थी कि साल 2017 में उनकी उम्र चु!नाव ल!ड़ने के लिए कम थी। दरअसल इलाहाबाद हाईकोर्ट ने सांसद आजम खान के बेटे और रामपुर की स्वार सीट से विधायक अब्दुल्ला आजम का निर्वाचन र!द्द किया था। चुनाव के वक्त न्यूनतम निर्धारित 25 साल की उम्र नहीं होने की वजह से उनका निर्वाचन र!द्द किया था।

हाईकोर्ट के फैसले के बाद अब्दुल्ला आजम की विधायकी चली गई। आजम व उनके परिवार को इस फैसले से बड़ा झ!टका लगा था। फैसले के खि!लाफ उन्होंने सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खट!ख!टाया। BSP उम्मीदवार रहे नवाब काजिम अली ने चुनाव अर्जी दाखिल की थी। अर्जी में अब्दुल्ला पर फर्जी दस्तावेजों की मदद से चुनाव ल!ड़ने का आ!रोप लगाया था। फिलहाल याचिकाकर्ता को नोटिस जारी कर जवाब मांगा गया है।

बताते चलें कि इसी महीने आजम खान के रामपुर स्थित आवास के बाहर पुलिस ने धा!रा 82 के तहत कुर्की के नोटिस चस्पा किए थे। इस बार तीन नोटिस लगाए गए थे। साथ ही इलाके भर में रिक्शे और माइक से सपा सांसद की संपत्ति कुर्की की मुनादी भी कराई गई।

मा!मला आजम के बेटे अब्दुल्ला आजम के फर्जी जन्म प्रमाणपत्र से संबंधित था। मामले की सुनवाई की तारीखों पर ल!गातार गै!रहाजिर रहने के कारण एडीजी-6 की अदालत ने सांसद आजम खान, विधायक तजीन फातमा और बेटे अब्दुल्ला आजम खान के खि!लाफ 18 दिसंबर को धा!रा 82 के तहत कुर्की नोटिस देने का आदेश दिया था।