जेएनयू में फिर बीजेपी को बड़ा झट’का, लेफ्ट ने लहराया जीत का पर’चम

नई दिल्ली स्थित जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) में छात्रसंघ चुनाव 2019 के नतीजे मंगलवार (17 सितंबर, 2019) शाम जारी किए गए। कैंपस में इस बार लेफ्ट यूनिटी (वाम दलों का गुट) का झंडा लहराया है और सभी चा!र पदों पर उसकी जीत हुई है।

यह चौथा मौका है जब जेएनयू में वा!मपंथी एकता पैनल (एसएफआई,डीएसएफ, आइसा व एआईएसएफ) के उम्मीदवारों ने सेंट्रल पैनल की चारों सीटों पर जीत हासिल की है।

जेएनयू छात्र संघ चुनाव में विजयी उम्मीदवा!रों में आइशी घोष अध्यक्ष, साकेत मून उपाध्यक्ष, सतीश चंद्रा महासचिव व एमडी तानिश ने संयुक्त सचिव सीट पर विजय हासिल की है। इस चुनाव में बीजेपी समर्थित अखिल भारतीय विधार्थी परिषद का खाता भी नहीं खुल सका है।

आइशी घोष (Students’ Federation of India) छात्रसंघ अध्यक्ष चुनी गई हैं, जबकि साकेत मून (Democratic Students’ Federation) उपाध्यक्ष बने हैं। वहीं, जेएनयूएसयू महासचिव सतीश चंद्र यादव (All India Students’ Association), जबकि संयुक्त सचिव पद पर मोहम्मद दानिश (All India Students’ Federation) चुने गए हैं।

रिजल्ट के आधिकारिक ऐलान के बाद देर शाम लेफ्ट यूनिटी से विजयी छात्रसंघ पदाधिकारियों ने ढपली के साथ गानों और ‘लाल सलाम’ और ‘रे`ड सल्यूट टू कॉ!मरेड’ सरीखे जो!शीले ना!रे लगाकर इसका ज`श्न मनाया।

अध्यक्ष पद पर जीतीं घोष को पड़े कुल 5728 मतों में से 2313 वोट हासिल हुए। वहीं, दूसरे पायदान पर ABVP के मनीष जांगिड़ को 1128 वोट्स के साथ जगह मिली, जबकि तीसरे नंबर पर BAPSA के जितेंद्र सुना रहे। उन्हें 1121 वोट मिले।

जेएनयू छात्रसंघ चुनाव में इलेक्शन बॉडी के सदस्य शशन पटेल ने जन`सत्ता को फोन पर बताया, “हमें मंगलवार को हाईकोर्ट से छा!त्रसंघ चुनाव के नतीजे जारी करने का आदेश मिला।

हमने इसके बाद शाम सात बजे रिजल्ट जारी कर दिए, जबकि वोटों की गिनती आठ सितंबर को ही हो गई थी। उसी रात साढ़े 11 बजे सील बंद लिफाफे में हमने रिजल्ट यूनिवर्सिटी प्रशासन को सौंप दिया था।” JNUSU की नई अध्यक्ष आइशी घोष को कुल 5728 में से 2313 वोट हासिल हुए।

Leave your reply