चीन ने फिर दी भारत को चेतावनी, कैलाश मानसरोवर यात्रा शुरू करने के लिए रखी ये शर्त

अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप के साथ पीएम नरेंद्र मोदी की मुलाकात से ठीक पहले चीन ने कैलाश मानसरोवर यात्रा पर रोक लगा दी। इसके पीछे उसने सुरक्षा कारणों को जिम्‍मेदार जिम्‍मेदार ठहराया। यह खबर आने के ठीक दो दिन और मोदी-ट्रंप की मुलाकात से कुछ घंटे पहले सिक्किम में चीनी सैनिकों ने भारतीय बंकरों को तोड़ा और धक्‍का-मुक्‍की की।

सिक्किम क्षेत्र में भारतीय सेना द्वारा सीमा पार करने पर चीन ने भारत के सामने विरोध प्रदर्शन किया है। चीन ने भारत से मांग की है कि वह भारतीय सेना को सिक्किम सीमा से तुरंत वापस बुला ले। इसी के साथ चीन ने भारत को चेतावनी दी है कि यदि सैनिकों को सिक्किम सीमा से नहीं हटाया गया तो वह भविष्य में भारतीय श्रद्धालुओं के लिए कैलाश मानसरोवर की यात्रा को बंद कर देंगे। हाल ही में चीन के विदेश मंत्रालय के एक प्रवक्ता ने कहा कि, ‘अपनी क्षेत्रीय संप्रभुता को बुलंद रखने को लेकर हमारा रूख दृढ़ है।

हम उम्मीद करते हैं कि भारत इसी दिशा में चीन के साथ काम कर सकता है और अपने सैनिकों को तुरंत वापस बुलाए जो आगे चले गए हैं व चीनी सीमा में घुस गए हैं। हमने अपने महत्वपूर्ण रख के बारे में बताने के लिए बीजिंग और नई दिल्ली में गंभीर विरोध दर्ज कराया है।’ प्रवक्ता ने कहा कि भारतीय सेना ने सीमा को पाक करके चीन के निर्माण कार्य को रोका है, जिससे उन्हें भारतीय श्रद्धालुओं की तीर्थयात्रा को रोकना पड़ा।

आपको बता दे कि, चीन की सेना कई बार भारत में घुसपैठ कर चुकी हैं। अभी हाल ही में चीन की सेना ने भारत में घुसकर भारतीय सेना के दो बंकर ध्वस्त कर डाले थे। इसके अलावा चीन पाकिस्तान का भी बहुत समर्थन करता रहता हैं।