CAA-NRC को लेकर कांग्रेस नेता का बयान वा!यरल, “अब देखना है किसका हाथ मजबू!त है हमारा या उस…”

कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर आज दिल्ली में शाहीन बाग इलाके में संशोधित नागरिकता कानू!न के खि!लाफ जारी विरो!ध प्रदर्श!न को अपना समर्थन देने पहुंचे। इस दौरान जनसभा को संबोधित करते हुए उन्होंने कुछ ऐसा कह दिया, जिस पर वि!वाद हो सकता है।

दरअसल उन्होंने कहा कि “मैं जो कर सकता हूं वो मैं करने के लिए तैयार हूं। मैं ये वादा करता हूं। जो भी कुर्बा!नियां देनी हैं, उसमें मैं भी शामिल होने के लिए तैयार हूं। अब देखें कि किसका हाथ मजबू!त है, हमारा या उस काति!ल का?”

बता दें कि मणिशंकर अय्यर इससे पहले भी कई बार ऐसे बयान दे चुके हैं, जिन पर विवा!द हुआ है। साल 2017 में मणिशंकर अय्यर ने पीएम मोदी को ‘नी!च किस्म’ का व्यक्ति कह दिया था। मणिशंकर अय्यर के इस बयान पर खूब हं!गामा हुआ था और आखिरकार उन्हें अपने इस बयान के लिए माफी मां!गनी प!ड़ी थी। इसके अलावा एक अन्य बयान में मणिशंकर अय्यर ने कहा था कि ‘कश्मी!री युवक ह!थियार उ!ठाकर ग!लत नहीं करते, भाजपा के लोग उन्हें मजबू!र करते हैं।’

वहीं शाहीन बाग इलाके में CAA के खि!लाफ विरो!ध प्रदर्श!न जारी हैं। विपक्षी पार्टियों से भी उन्हें समर्थन मिल रहा है। रविवार को कांग्रेस के वरिष्ठ नेता शशि थरूर भी शाहीन बाग इलाके में सीएए के खि!लाफ जारी प्रदर्श!न को अपना समर्थ!न देने पहुंचे थे।

इस दौरान शशि थरूर ने कहा था कि ‘जामिया को सं!घर्ष करना चाहिए, अगर पैसे की जरूरत है, तो मैं जामि!या को ब!चाने के लिए भी!ख मांगने के लिए बाहर जाऊंगा।’

CONGRESS FLAG

संशोधित नागरिकता कानू!न के त!हत सरकार दिसंबर, 2014 से पहले पाकि!स्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान से आने वाले प्रता!ड़ित हिं!दुओं, सिखों, जैन, बौद्ध, ईसाई, पारसी समुदाय के लोगों को नागरिकता देगी। इस कानू!न में मु!स्लिमों को बाहर रखा गया है, जिसके खि!लाफ लोगों में ना!राजगी है। इसी वजह से सीएए का भारत में विरो!ध हो रहा है।