मध्य प्रदेश में विधानसभा चुनाव से पहले बीजेपी को तगड़ा झटका, कांग्रेस की भारी जीत

मध्यप्रदेश में वर्ष 2018 में विधानसभा चुनाव होना हैं और कई सर्वे भाजपा को ताकतवर मान रहे हैं, लेकिन चुनावों से कुछ माह पहले ही नगर पालिका और नगर पंचायत के उप चुनावों में कांग्रेस के जोरदार प्रदर्शन से भाजपा नेताओं की पेशानी पर बल ला दिया है। इनमें से कई सीटों पर भाजपा को हार का सामना करना पड़ा है।

मप्र के नगरीय निकाय में हुए उपचुनाव की कुल 14 सीटों में से 9 पर कांग्रेस, 4 पर भाजपा और 1 पर निर्दलीय ने चुनाव जीते। भोपाल बैरसिया नगर पालिका वार्ड नं. 13 उपचुनाव कांग्रेस की भाग्यश्री चंचल खत्री ने भाजपा के राधेश्याम शिल्पकार को 598 वोट से हराया। कांग्रेस की भाग्यश्री चंचल खत्री को 767 वोट और राधेश्याम शिल्पकार को 169 वोट मिले।

ग्वालियर/डबरा नगर पालिका पार्षद उपचुनाब कांग्रेस की रानी रावत 22 मतों से जीत हासिल की है। रानी रावत को 1102 भाजपा की अनीता प्रजापति को 1080 मत मिले। नीमच सरवानिया महाराज नगर परिषद के वार्ड उपचुनाव में कांग्रेस 2 मतों से विजय हुईं। मंदसौर शामगढ़ उप चुनाव वार्ड 1 में भाजपा के दिलीप प्रजापति 48 मतों से विजय हुए।

सिंगरौली में नगर निगम वार्ड 35 में कांग्रेस को 251 वोट तथा भाजपा को 201 वोट प्राप्त हुए। इसमें कांग्रेस ने 50 वोटों से जीत हासिल की। इसी तरह अनूपपुर-बिजुरी में भाजपा प्रत्याशी संजय कोल 52 मतों से विजयी हुए। सतना नगर निगम वार्ड क्रमांक 10 के चुनाव में भी कांग्रेस 940 से जीत हासिल की है।

इंदौर की प्रतिष्ठित सीट राऊ विधानसभा क्षेत्र में जिला पंचायत के वार्ड 3 का नतीजा सबसे चौंकाने वाला आया है। यहां उप चुनाव में कांग्रेस प्रत्याशी जीतू ठाकुर 2294 वोट से जीते। तमाम बड़े नेताओं और संगठन की मजबूत ताकत के बावजूद राऊ विधानसभा क्षेत्र के जिला पंचायत वार्ड 3 के उपचुनाव में भाजपा को हार का सामना करना पड़ा।

यहां पूर्व विधायक जीतू जिराती, पूर्व महापौर मधु वर्मा, कविता पाटीदार, गोपालसिंह चौधरी, रवि रावलिया, जिलाध्यक्ष अशोक सोमानी, देवराजसिंह परिहार,रमेश मेंदोला और आकाश विजयवर्गीय यहां भाजपा की जीत के लिए दम लगाए हुए थे।

मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव के ठीक पहले नगरपालिका के चुनाव में सत्ताधारी पार्टी भारतीय जनता पार्टी की करारी हार हुई है वहीं कांग्रेस का डंका बजा है।कुल 14 स्थानों पर हुये चुनाव में कांग्रेस को 9 सीटों पर जीत मिली है, वहीं भाजपा को 4 एवं 1 सीट निर्दलीय के खाते में गई है।वहीं अध्यक्ष पद के लिये डबरा नगर पालिका में भी कांग्रेस प्रत्याशी ने जीत हासिल की है।विधानसभा चुनाव के पहले लोकसभा और विधानसभा उपचुनाव के बाद पचमढी छावनी परिषद और अब नगरपालिका एवं नगर पंचायत में कांग्रेस की प्रचंड वापसी हुई है वहीं भाजपा का सूपड़ा साफ़ हो गया है।अब तक मिल रहे सारे संकेत विधानसभा चुनाव में भाजपा और शिवराज की विदाई और कांग्रेस की सत्ता में वापसी दिखा रहे हैं।

Posted by आईटि सेल राऊ विधानसभा on Tuesday, August 7, 2018

Leave your reply