पालघर में संतों की लिंचिंग के बाद एसपी के खिलाफ कार्रवाई, छुट्टी पर भेजे गए

महाराष्ट्र के पालघर में संतों को जिस तरह से पीट-पीटकर मार दिया गया था, उसके बाद इस मामले में प्रदेश के गृहमंत्री ने बड़ी कार्रवाई की है। गृहमंत्री अनिल देशमुख ने कहा कि पालघर के एसपी गौरव सिंह को छुट्टी पर भेज दिया गया है, उनके खिलाफ यह कार्रवाई पालघर हत्याकाकांड के चलते अनुशासनात्मक कार्रवाई के तहत की गई है।

अडिशनल एसपी अब पालघर के एसपी का जिम्मा संभालेंगे। बता दें कि 16 अप्रैल को महाराष्ट्र के पालघर में दो संतों और उनके ड्राइवर की भीड़ ने पीट-पीटकर हत्या कर दी थी।

गौरतलब है कि घटना 16 अप्रैल की रात की है। दो संन्यासी 70 साल के कल्पवृक्ष गिरी और 35 साल के सुशीलगिरी महाराज मुंबई के कांदिवली से एक अंत्येष्टि में शामिल होने के लिए सूरत की ओर जा रहे थे।

उन्होंने कांदिवली से सूरत जाने के लिए एक कार किराए पर लिया था, जिसे 30 साल के निलेष येलगेड़े चला रहे थे, रास्ते में कोई रुकावट न पैदा हो, इसलिए उन्होंने पालघर जिले के पीछे वाली सड़क के माध्यम से गुजरात में घुसने का फैसला किया, बजाय इसके कि वे मुंबई-गुजरात हाईवे पकड़ कर जाते।

जब इन लोगों की कार गडचिंचले गांव के पास पहुंची तो वहां उन्हें वन विभाग के एक संतरी ने रोक दिया। उन तीनों की संतरी से बात हो ही रही थी कि कुछ उग्र लोगों ने उनपर हमला बोल दिया, जिसके बाद इन लोगों की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई।

दरअसल इस इलाके में इस तरह की अफवाहें उड़ रही थीं कि इस क्षेत्र में कुछ बच्चा चोर, अंगों के तस्कर और चोर सक्रिय हो गए हैं। इसके मद्दनजर स्थानीय गांव वालों ने एक सजग दस्ता तैयार किया था। दावों के मुताबिक इन अफवाहों की वजह से हाल में यहां मारपीट की दो घटनाएं पहले भी सामने आ चुकी थीं।