प्रेमी के साथ मिलकर पत्नी ने की पति की हत्या, 8 साल के मासूम ने खोला राज

आजमगढ़: पत्नी ने अपने पति की ही हत्या कर शव को प्लास्टिक के बोरे में भरकर नहर में फेंक दिया। बेरहम पत्नी ने प्रेमी के साथ मिलकर इस दर्दनाक घटना को उस समय अंजाम दिया, पति सो रहा था। यह घटना उत्तर प्रदेश के आजमगढ़ जिले की है।

8 वर्षीय मासूम बेटा ये सब अपनी आंखों से देख रहा था

बताया जा रहा है कि दीदारगंज थाना क्षेत्र के निकासीपुर गांव में एक बेरहम पत्नी जब अपने प्रेमी के साथ मिलकर अपने ही पति की हत्या की इस घटना को अंजाम दे रहे थे तो उसका 8 वर्षीय मासूम बेटा ये सब अपनी आंखों से देख रहा था।

हद तो तब हो गई कि जब इश्कबाज पत्नी ने पति की हत्या कर शव को एक दिन तक बोरे में बांध कर घर में ही छुपा रखा था। दूसरे दिन प्रेमी की मदद से शव को नहर में फेंक दिया। शव मिलने के बाद जब पुलिस ने हत्या की वजह तलाशना शुरू किया तो पुलिस को शक की सुई उसके अपनों पर ही जाकर ठहर गई, जिसके बाद पुलिस ने मृतक के आठ वर्षीय बेटे से अकेले में पूछताछ की।

पुलिस पूछताछ में मासूम बेटे ने अपनी इश्कबाज मां की करतूत का पर्दाफाश कर दिया जिसके बाद पुलिस ने प्रेमी और आरोपी पत्नी को हिरासत में लेकर पूछताछ की। यहां दोनों ने अपना जुर्म कबूल कर लिया, जिसके बाद पुलिस ने दोनों को जेल भेज दिया।

मासूम ने खोली पोल

पुलिस ने बताया कि निकासीपुर गांव के नहर के पुल के नीचे एक युवक का प्लास्टिक के बोरे में सढ़ी गली अवस्था में एक शव मिला था, जिसकी शिनाख्त निकासीपुर गांव निवासी रमेश कुमार राजभर के रूप में हुई। शव की शिनाख्त होने के बाद पुलिस हत्या के कारणों की तलाश कर रही थी। कारणों की तलाश करते पुलिस की शक की सुई परिजनों पर जाकर ठहर गई। इसी दौरान पुलिस ने मृतक के आठ वर्षीय बेटे से अकेले में पूछताछ की तो पुलिस के होश उड़ गये। पुलिस ने प्रेमी और आरोपी पत्नी को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू किया तो चौंकाने वाला खुलासा हुआ।

ये था कारण

आरोपी रेखा देवी तीन बच्चों की मां है। रेखा को उसका पति रमेश राजभर अक्सर प्रताड़ित करता था। करीब छह माह पूर्व रेखा अपने पति की हरकतों से तंग आकर आत्महत्या करने के लिये घर से बाहर चली गई थी। बाहर जाने पर रेखा की पहचान चितारा महमूदपुर गांव निवासी अंकित यादव से हो गई। अंकित ने ही रेखा को मरने से बचा लिया। इसके बाद दोनों के बीच बातचीत के साथ ही प्रेम प्रसंग चलने लगा। एक दिन रमेश राजभर ने घर में दोनों को एक साथ आपत्तिजनक हालत में देख लिया जिसके बाद उसने रेखा की जमकर पिटाई कर दी।

गड़ासे से हमलाकर उसे मौत के घाट उतार दिया

इसके बाद रेखा और उसके प्रेमी अंकित यादव ने अपने बीच से रमेश राजभर को हटाने की योजना तैयार की। 16 मई की रात सोते समय रेखा ने पति के ऊपर हमलाकर बेहोश कर दिया। जबकि अंकित ने गड़ासे से हमलाकर उसे मौत के घाट उतार दिया। रमेश की हत्या करने के बाद आरोपी रेखा और अंकित ने उसके शव को एक बोरे में भरकर घर में छिपा दिया। बाद में 17 मई की रात दोनों लाश ले जाकर निकासीपुर गांव में स्थित नहर पुल के नीचे फेंककर फरार हो गए। फिलहाल पुलिस ने दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।