सोशल मीडिया पर फैली उत्तराखंड सीएम के निधन की अफवाह, पुलिस ने किया मामला दर्ज

सोशल मीडिया पर उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत के निधन की अफवाह फैलाने वाले लोगों के खिलाफ पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है. दरअसल, सोशल मीडिया पर सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत के निधन की झूठी खबर फैलने के बाद पुलिस प्रशासन में हड़कंप मच गया. बता दें कि फेसबुक पर किसी ने सीएम त्रिवेंद्र के निधन की झूठी खबर पोस्ट की थी.

सोशल मीडिया पर सीएम रावत के निधन की फेक पोस्ट पर कमेंट्स की झड़ी लग गई. हालांकि, इस मामले में पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है. इसके साथ ही पुलिस आरोपियों की तलाश में जुट गई है. इस मामले पर डीजी लॉ एंड ऑर्डर आशोक कुमार ने कहा कि सोशल मीडिया पर अफवाह फैलाने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी.

सोशल मीडिया के माध्यम का दुरुपयोग करते हुए एक शख्स ने फेसबुक पर झूठी खबर फैलाते हुए लिखा कि बहुत दु:खद घटना अभी-अभी उत्तराखंड मुख्यमंत्री का निधन हो गया है. इस पोस्ट पर एक के बाद एक लोगों ने मुख्यमंत्री के निधन को लेकर कमेंट्स करना शुरू कर दिया. कई लोगों ने दु:ख जताया तो कई लोगों ने कुछ अन्य टिप्पणियां कीं.

फेसबुक पर मुख्यमंत्री के निधन को लेकर फैली अफवाह की जानकारी जैसे ही पुलिस मुख्यालय को मिली. तत्काल ही महानिदेशक अशोक कुमार ने देहरादून एसएसपी को मुकदमा दर्ज करके संबंधित लोगों के खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्रवाई करने के निर्देश दिए.

फिलहाल, देहरादून पुलिस ने इस मामले की गंभीरता को देखते हुए पोस्ट करने वाले व्यक्ति के नाम पर मुकदमा दर्ज कर दिया है. इतना ही नहीं पोस्ट पर कमेंट और गलत संदेश लिखकर उसे शेयर करने वाले सभी लोगों के खिलाफ जांच पड़ताल शुरू कर दी गई है. पुलिस को आशंका है कि किसी ने फेक फेसबुक आईडी से मुख्यमंत्री के निधन की अफवाह फैलाई है.

इस मामले की गंभीरता को देखते हुए लॉ एंड ऑर्डर पुलिस महानिदेशक अशोक कुमार ने कहा कि सोशल मीडिया का इस हद तक दुरुपयोग हो सकता है, यह बेहद शर्मनाक और दुर्भाग्यपूर्ण है. इस संवेदनशील मामले में तत्काल ही पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर दिया है. उन्होंने कहा कि फेक पोस्ट करने वालों को किसी भी हालत में बख्शा नहीं जाएगा. पुलिस को सख्त से सख्त कार्रवाई करने के निर्देश दिए गए हैं.